Monday , November 28 2022

बढ़ते प्रदूषण पर योगी का फरमान, नगरों-कस्‍बों में रोज करायें पानी का छिड़काव

-पराली जलाने पर प्रभावी नियं‍त्रण के लिए कदम उठायें
-…अगर कदम उठाये हैं तो फि‍र कैसे जलाया जा रहा है कूड़ा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में खराब होती जा रही वायु प्रदूषण की स्थिति पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चिंता जताते हुए कहा है कि पराली को जलाने की घटनाओं पर आखिर रोक क्‍यों नहीं लग पा रही है। उन्होंने अधिकारियों को नगरों-कस्‍बों में नियमित रूप से पानी का छिड़काव कराने के निर्देश दिये हैं। उन्‍होंने अधिकारियों से सवाल उठाते हुए कहा कि अगर आप लोगों द्वारा कदम उठाये गये हैं तो फि‍र कूड़ा जलाने की घटनायें क्‍यों सामने आ रही हैं।

आपको बता दें कि प्रदेश में दीपावली के बाद से तेजी से जहरीली होती जा रही है, गुरुवार को इसके खतरनाक स्‍तर तक पहुंचने के बाद मुख्‍यमंत्री ने शुक्रवार को महत्‍वपूर्ण बैठक बुलायी। बैठक में मुख्‍यमंत्री ने सभी मंडलायुक्‍तों को निर्देश देते हुए कहा है कि मंडलीय और जनपदीय  स्‍तर पर रोज पर्यावरण को लेकर समीक्षा की जाए। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि कूड़ा जलाने से रोकने के लिए अगर आप लोगों के द्वारा कदम उठाए गए हैं तो जनपदों में इसके जलाए जाने की घटनायें क्यों हो रही हैं।

शुक्रवार को भी लखनऊ में छायी रही धुंध

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि पराली को जलाने से रोकने के लिए किसानों को जागरूक किए जाने का कार्यक्रम भी चलाया जा सकता है, उन्‍होंने कहा कि इसकी निरोधात्मक कार्यवाही के लिए हम लोगों को आगे आना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी प्रकार नगरों और कस्बों में वायु प्रदूषण पर रोक के लिए हम प्राधिकरण या नगर निकायों को प्रदूषण नियंत्रण कार्यक्रम में जोड़ सकते हैं। उन्होंने कहा सभी 17 नगर निगम और नगर निकायों को कार्यक्रम से जोड़कर नियमित रूप से पानी का छिड़काव किया जाना चाहिए।