फि‍जाओं में गूंजेगा…यह एफएम रेडियो के‍जीएमयू है…

प्रो विनोद जैन को वर्तमान पदों के साथ दी गयी रेडियो स्‍टेशन के एग्‍जीक्‍यूटिव ऑफीसर पद की भी जिम्‍मेदारी
एफएम रेडियो केजीएमयू के एग्‍जीक्‍यूटिव ऑफीसर प्रो विनोद जैन

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय (केजीएमयू) ने एक और क्षेत्र में उपलब्धि की ओर कदम बढ़ा दिया है, यह नयी उपलब्धि है केजीएमयू का अपना एफएम रेडियो। भारत सरकार की गवर्निंग बॉडी ने कम्‍युनिटी रेडियो स्‍टेशन के लिए केजीएमयू को मंजूरी दे दी है। दो साल पूर्व भारत सरकार के सूचना प्रसारण मंत्रालय में दाखिल किये गये आवेदन से शुरू हुई कवायद रंग लायी है। अब केजीएमयू अपना एफएम रेडियो प्रारम्‍भ करेगा, इस एफएम रेडियो के एग्‍जीक्‍यूटिव ऑफीसर पद की जिम्‍मेदारी सर्जरी विभाग के प्रोफेसर तथा डीन पैरा‍मेडिकल साइंसेज डॉ विनोद जैन को सौंपी गयी है।

कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट की ओर से जारी ऑर्डर में कहा गया है कि वर्तमान पद के साथ केजीएमयू के कम्‍युनिटी रेडियो स्‍टेशन के एग्‍जीक्‍यूटिव ऑफीसर पद की जिम्‍मेदारी भी प्रो विनोद जैन सम्‍भालेंगे। इस बारे में प्रो जैन से बात करने पर उन्‍होंने बताया कि इस एफएम रेडियो का प्रसारण केजीएमयू के चारों ओर हवाई दूरी 30 किलोमीटर के दायरे में सुना जा सकेगा। उन्‍होंने बताया कि एक मोटे तौर पर अनुमान के अनुसार लगभग तीन माह में यह रेडियो आम जनता को सुनने को मिल सकेगा।

प्रो जैन ने बताया कि इस एफएम रेडियो को शुरू करने का उद्देश्‍य लोगों तक रोगों के बारे में जानकारी, जागरूकता, समाचार देने के साथ ही यहां होने वाले कार्यक्रमों को आम जनमानस तक पहुंचाना भी है। प्रो जैन ने बताया कि केजीएमयू में नेशनल-इंटरनेशनल कॉन्‍फ्रेंस में होने वाले विशेष व्‍याख्‍यानों, लेक्‍चर्स का प्रसारण भी समय-समय पर होगा। उन्‍होंने बताया कि एफएम रेडियो उबाऊ न बने इसलिए कार्यक्रमों में रोचकता बनायी रखी जायेगी। उन्‍होंने बताया कि रेडियो स्‍टेशन के लिए स्‍टूडियो आदि का निर्माण इसके लिए अंतिम रूप से स्‍थान का चयन करने के बाद शीघ्र शुरू कराया जायेगा। उन्‍होंने उम्‍मीद जतायी कि तीन माह में हम रेडियो केजीएमयू की आवाज आमजन तक पहुंचाना शुरू करने की स्थिति में पहुंच जायेगी।