Thursday , June 30 2022

पति को लिवर दान कर पत्नी ने निभाया अर्धांगिनी होने का फर्ज

केजीएमयू में हुआ आठवां सफल लिवर प्रत्‍यारोपण  
ज्ञानेन्‍द्र एवं वन्‍दना : एक दूजे के लिए

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। पत्नी को अर्धांगिनी भी कहा जाता है, अर्धांगिनी शब्द को चरितार्थ करते हुए हुए एक पत्नी ने अपने पति को लिवर दान कर उसे नयी जिन्‍दगी दी है। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में आज हुए आठवें लिवर प्रत्यारोपण में अमेठी निवासी 39 वर्षीय पत्नी ने 41 वर्षीय अपने पति को लिवर दान किया डॉक्टरों के अनुसार ऑपरेशन सफल रहा है और पति व लिवर देने वाली पत्‍नी दोनों की हालत स्थिर है।

केजीएमयू प्रवक्ता के अनुसार प्रत्यारोपण सर्जरी प्रातः 7:00 बजे शुरू हुई एवं देर शाम तक चली केजीएमयू प्रत्यारोपण टीम के नेतृत्व में सर्जिकल गैस्ट्रोएंटरोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो अभिजीत चंद्रा डॉ विवेक गुप्ता, डॉ प्रदीप जोशी, डॉ अनीता मलिक, डॉ एहसान सिद्दीकी, डॉ रवि प्रकाश, डॉ मनोज चौरसिया, डॉ मनोज, डॉ तूलिका चंद्रा, डॉ अमिता जैन, डॉ प्रशांत, डॉ शीतल वर्मा, डॉ डी हिमांशु, डॉ दर्शन बजाज, डॉ गौरव चौधरी, डॉ वाहिद, डॉ सुमित रूंगटा, डॉ अजय कुमार, डॉ ओपी सिंह एवं ट्रांसप्लांट कोऑर्डिनेटर पीयूष श्रीवास्तव, क्षितिज वर्मा, अश्विनी कुमार सिंह के साथ ही कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट के संरक्षण में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ एसएन संखवार एवं चिकित्सा अधीक्षक डॉ बीके ओझा के सहयोग से सफल लिवर प्रत्यारोपण हुआ। प्रवक्ता के अनुसार मैक्स हॉस्पिटल दिल्ली इसमें अपना सहयोग किया जिनकी टीम में डॉ राजेश अग्रवाल एवं अन्य सर्जन शामिल थे।