स्‍वास्‍थ्‍य के दृष्टिकोण से योग से बेहतर कोई पद्धति नहीं

-कुलपति प्रो भट्ट सहित केजीएमयू के डॉक्‍टरों, कर्मियों ने प्रोटोकाल के तहत किया अपने-अपने घरों पर योग   

प्रो. एम.एल.बी. भट्ट

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। छठे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आज रविवार को किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय द्वारा कुलपति प्रो. एम.एल.बी. भट्ट के नेतृत्व में चिकित्सा विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के चिकित्सकों एवं विद्यार्थियों द्वारा कोविड-19 जैसी वैश्विक महामारी के बावजूद आयुष मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करते हुए अपने-अपने घरों में अपने परिवार के साथ योग करते हुए भारी संख्या में फोटो व वीडियो के.जी.एम.यू.वेबसाइट पर अपलोड किए तथा व्हाट्सएप एवं अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर किए।

प्रो एस एन संखवार

इस अवसर पर चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.एम.एल.बी. भट्ट ने योग के माध्यम से चिकित्सकों, स्वास्थ्य कर्मियों एवं  आमजन को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि केजीएमयू प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मना रहा है। उन्होंने बताया कि योग के माध्यम से कोरोना संक्रमण से अपना बचाव किया जा सकता है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि योग के द्वारा सिर्फ कोरोना ही नहीं बल्कि डायबिटीज, रक्तचाप, कैंसर सहित अन्य कई बीमारियों से बचा जा सकता है, इससे बेहतर कोई पद्धति नहीं है। इस अवसर पर उन्होंने योग से जुड़े अन्य लाभ के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

प्रो. विनोद जैन

इस अवसर पर चिकित्सा विश्वविद्यालय के चिकित्सकों, विद्यार्थियों एवं स्वास्थ्य कर्मियों के लिए केजीएमयू योगा सेल प्रभारी डॉ वाणी गुप्ता द्वारा केजीएमयू योगा प्रोटोकॉल बनाया गया तथा उसको केजीएमयू वेबसाइट, फेसबुक व व्हाट्सएप इत्यादि द्वारा समस्त चिकित्सकों, विद्यार्थियों एवं स्वास्थ्य कर्मियों को भेजा गया जिसे देखकर बड़ी संख्या में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर प्रतिभाग किया गया।

प्रो. संदीप तिवारी

कोरोना का इलाज करने वालों की इम्‍युनिटी बढ़ाता है योग

इस अवसर पर डॉ वाणी गुप्ता ने बताया कि क्वारन्टीन में रह रहे चिकित्सकों एवं अन्य कोरोना संक्रमित मरीजों का उपचार कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों को योग करने से उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती है तथा इससे कोरोना जैसे धातक संक्रमण से बचाव में काफी सहयोगी होता है।

केजीएमयू इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल साइंसेज के विद्यार्थी

कोरोना संक्रमण से बचने में योग की भूमिका बतायी डॉ विनोद जैन ने

इस अवसर में केजीएमयू इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल साइंसेज के अधिष्ठाता प्रो. विनोद जैन द्वारा अपने संकाय सदस्यों एवं विद्यार्थियों के साथ अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। उक्त कार्यक्रम में डॉ विनोद जैन द्वारा योग से जुड़े तमाम लाभ एवं उससे कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रति जागरूक किया गया। बता दें कि डॉ विनोद जैन द्वारा इससे पूर्व भी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए योग के माध्यम से आमजन को जागरूक किये जाने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कर चुके हैं। इस अवसर पर मुख्य रूप से मुख्य चिकित्सा अधीक्षक प्रो एस एन संखवार, विभागाध्यक्ष, रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभागाध्यक्ष डॉ सूर्यकांत, फीजियोलॉजी विभाग के प्राचार्य प्रो. नरसिंह वर्मा, विभागाध्यक्ष ट्रॉमा सर्जरी डॉ संदीप तिवारी तथा डॉ आनंद श्रीवास्तव समेत बड़ी संख्या में चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मियों ने प्रतिभाग किया।

धन्वंतरि सेवा संस्थान ने भी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस में लिया हिस्सा

धन्वंतरि सेवा संस्थान ने भी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस में हिस्‍सा लेते हुए इसके पदाधिकारियों ने अपने-अपने घरों में योग किया। संस्थान के अध्यक्ष प्रोफ़ेसर सूर्यकांत, सचिव प्रोफेसर नीरज मिश्रा, संचालक अवधेश नारायण के मार्गदर्शन में कार्यकर्ताओं को योग के साथ-साथ योग के वैज्ञानिक दृष्टिकोण से लाभ बताये गये, संस्थान के कोषाध्यक्ष ललित जोशी, संतोष व अन्य सभी कार्यकर्ताओं ने अपने घरों से योग दिवस को मनाया।