परिवार नियोजन के लिए जोड़ों को चुनने में अपनायी गयी है यह तकनीक

-प्रति माह 21 तारीख को खुशहाल परिवार दिवस मनाने का अभियान शुरू

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनउ। उत्‍तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने आज कहा कि मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने में भी परिवार नियोजन सेवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। समुदाय स्तर पर परिवार नियोजन के प्रति जागरूकता और स्वीकार्यता बढ़ाने पर योगी सरकार का पूरा जोर है। एक अनूठी पहल के तहत अब हर माह की 21 तारीख को खुशहाल परिवार दिवस मनाने का निर्णय लिया गया है।

स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह पूरे प्रदेश में शुरू हुए खुशहाल परिवार दिवस के शुभारंभ अवसर पर संयुक्त जिला चिकित्सालय,जनपद सिद्धार्थ नगर में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में परिवार नियोजन सेवाओं की समुदाय स्तर पर निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति के लिए परिवार नियोजन साधनों की ग्राह्यता को बढ़ाना बहुत जरूरी है। इस पहल के तहत लक्षित समूह के परिवार नियोजन के साधन अपनाने पर खास ध्यान दिया जाएगा। पहली जनवरी के बाद प्रसव वाली वे महिलाएं जो उच्च जोखिम गर्भावस्था (एच.आर.पी.) के रूप में चिन्हित गयीं थीं, नव विवाहित दम्पति (जिनका विवाह इस साल जनवरी के बाद हुआ है) और वह योग्य दम्पति जिनके तीन या तीन से अधिक बच्चे हैं। इन्हें लक्षित समूह में शामिल कर खुशहाल परिवार की जानकारी से परिचित कराया जाएगा।

इससे पूर्व स्वास्‍थ्‍य मंत्री ने जागरूकता वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया और फीता काटकर दिवस का उद्घाटन किया। कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने परिवार नियोजन को बढ़ावा देने वाले पांच व्यक्तियों को अंगवस्त्र देकर सम्मानित भी किया।