मातृ-पितृ सदन वृद्धाश्रम में गीत, नृत्‍य, उपहार और ढेर सारा प्‍यार

-शान हेल्प ग्रुप, सीटीसीएस फैमिली एनजीओ, अजंली फ़िल्म प्रोडक्शन एवं आशा वेलफेयर फाउंडेशन ने आयोजित किया आनंद उत्‍सव

लखनऊ/ बाराबंकी। अपनों के प्यार से दूर वृद्धाश्रम में रह रहे बुज़ुर्गों को जब गीत संगीत के साथ अपनेपन का प्‍यार भरा माहौल मिला तो उनकी खुशी का ठिकाना न रहा। मौका था मातृ-पितृ सदन वृद्धाश्रम में टीम लखनऊ की शान द्वारा आयोजित आंनद उत्सव का। बाल कलाकारों द्वारा बुज़ुर्गों का मनोरंजन किया गया।

रविवार को बाराबंकी जिले के सफेदाबाद क्रॉसिंग स्थित मातृ पितृ सदन वृद्धाश्रम में बुज़ुर्गों ने आनंद उत्सव में खूब आंनद लिया। ये कार्यक्रम लखनऊ की शान हेल्प ग्रुप, सीटीसीएस फैमिली एनजीओ, अजंली फ़िल्म प्रोडक्शन एवं आशा वेलफेयर फाउंडेशन की तरफ से आयोजित किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत बुज़ुर्गों पर पुष्प वर्षा के बाद देवी गीत एवं पूजन से शुरू हुई। कार्यक्रम की होस्ट बानी चावला ने बदन पे सितारे लपेटे हुए गाया, अदिति वर्मा ने ज़िन्दगी प्यार का गीत है बुज़ुर्गों को सुनाया, इसके बाद ऐमन जावेद ने सत्यम शिवम सुंदरम एवं अमन जावेद ने इतना न मुझसे तू प्यार बढ़ा गीत सुनाया।

बाल कलाकार वागीशा पंत ने अपने मां-बाप का तू दिल न दुखा पर एवं रूबल जैन ने वेस्टर्न स्टाइल में नृत्य प्रस्तुत किया एवं मोहित सिंह ने बहुत प्यार करते है तुमको सनम पर सबका ध्यान आकर्षित किया। सभी कलाकारों ने एक से बढ़कर एक गीत बुज़ुर्गों को सुनाये। पूरा माहौल खुशियों से सराबोर हो गया। वृद्धाश्रम में रह रहे बुज़ुर्गों ने भी गाना गाकर अपनी खुशी प्रकट की। पूरे कार्यक्रम के दौरान बुज़ुर्गो को पौष्टिक खीर, फ्रूट चाट एवं समोसा नाश्ते के रूप में दिया गया। गायन एवं नृत्य प्रस्तुत करने वालो को बुज़ुर्गो द्वारा ही प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया

बुज़ुर्गो की सुविधा के लिए उन्हें नहाने का साबुन, कपड़े धोने का साबुन, कोल्ड क्रीम, नमकीन एवं बिस्कुट का किट भी वितरण किया गया। वृद्धाश्रम में सेवा कर रहे 15 सेवादारों को प्रशस्ति पत्र एवं डायरी देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों को कलम मित्र सम्मान भी दिया गया जिसमें लखनऊ, बाराबंकी के अनेक पत्रकार शामिल रहे। कार्यक्रम को सफल बनाने में बृजेन्द्र बहादुर मौर्य, आलोक अग्रवाल, सुनीता यादव, अजंली पांडेय एवं मनोज कुमार का विशेष सहयोग रहा। इस दौरान प्राथमिक विद्यालय गोयला बीकेटी के प्रधानाचार्य सुरेश जायसवाल, रिटायर्ड पीसीएस सतीश दलेला, दीपक राजभर, मनदीप कौर, रुचि अरोड़ा, रूपा सिंह, अहमद खान एवं संजय जैन उपस्थित रहे।