…ताकि असाध्‍य रोग वाले दर्दरहित होकर पूरी कर सकें जीवन की सांसें

असाध्‍य रोगों से ग्रस्‍त मरीजों की तकलीफों को दूर करते हैं पैलिएटिव केयर में

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। पैलिएटिव केयर में उन मरीजों की सेवा और देखभाल की जाती है जो कैंसर आदि असाध्‍य बीमारी से गस्‍त होकर बिस्‍तर पर पड़े रहते हैं। ऐसे मरीजों की देखभाल के साथ उनको उस असाध्‍य बीमारी के चलते होने वाली तकलीफों का लक्षणों के आधार पर उपचार कर उन्‍हें राहत दी जाती है, जिससे वह सामान्‍य तरीके से बिना तकलीफ के अपनी सांसें पूरी कर सकें।

यह बात केजीएमयू के एनेस्‍थीसिया विभाग में पेन क्‍लीनिक चलाने वाली डॉ सरिता सिंह ने इंडियन मेडिकल एसोसिएशन लखनऊ के तत्‍वावधान में आयोजित स्‍टेट लेवल रिफ्रेशर कोर्स एंड सीएमई प्रोग्राम में अपने सम्‍बोधन में कही। उन्‍होंने बताया कि केजीएमयू में पैलिएटिव केयर की सुविधायें दी जा रही हैं।

इनकी देखभाल करने के बारे में उन्‍होंने बताया कि मुख्‍य रूप से उन्‍हें असाध्‍य रोग के कारण होने वाले दर्द से मुक्ति दिलाना, बेड पर लेटे-लेटे बेड सोर (घाव) हो जाते हैं, उन घावों से बचने और उनके उपचार के बारे में बताया जाता है। उन्‍होंने बताया वर्ल्‍ड हॉसपाइस एंड पैलिएटिव केयर डे पर 12 अक्‍टूबर को कैंसर एड सोसाइटी के साथ मिलकर केजीएमयू के एनेस्‍थीसिया विभाग ने जागरूकता रैली निकाली थी।

उन्‍होंने बताया कि केजीएमयू के एनेस्‍थीसिया विभाग में पेन एंड पैलिएटिव केयर की क्‍लीनिक चल रही है।है। इसमें दर्द से पीड़ि‍त मरीजों को दवाओं के साथ कई इंटरवेंशन प्रोसीजर के द्वारा दर्द से राहत दिलायी जाती है।