Saturday , December 4 2021

एसजीपीजीआई प्रशासन पर सवाल : जब कैडर 35 हैं तो रीस्‍ट्रक्‍चरिंग सिर्फ 5 की क्‍यों ?

-निदेशक को पत्र सौंप कर जतायी नाराजगी, कर्मचारी महासंघ शासी निकाय बैठक का करेगा विरोध

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। संजय गांधी पीजीआई कर्मचारी महासंघ ने संस्‍थान प्रशासन एवं आगामी 18 जून को होने वाली शासी निकाय की बैठक पर विरोध जताया है। बैठक पर विरोध जताने का निर्णय आज 14 जून को हुई कार्यकारिणी समिति की बैठक में लिया गया। महासंघ का कहना है कि संस्थान में लगभग 35 संवर्ग हैं जिसमें कि केवल 5 संवर्गो का कैडर रिस्ट्रक्चरिंग किया जाना बाकी संवर्गों के कर्मचारियों के साथ घोर अन्याय है।

यह जानकारी देते हुए महासंघ के महामंत्री धर्मेश कुमार ने बताया कि महासंघ द्वारा अपने विरोध को लेकर निदेशक को पत्र भेजा गया है। इस पत्र में कहा गया है कि 18 जून को होने वाली शासी निकाय की बैठक में संस्थान के समस्त संवर्गों की संवर्ग पुनरसंरचना को एक साथ प्रस्तुत किया जाए और संस्थान में एक साथ लागू किया जाए और एम्स में लागू वर्दी भत्ता, पेशेंट केयर भत्ता और द्विभाषी भत्ते को संस्थान में तुरंत लागू किया जाए।

उन्‍होंने कहा है कि चूंकि संस्थान प्रशासन केवल 5 संवर्गों की संवर्ग पुनर्संरचना को ही प्रस्तुत करने जा रहा है, इसलिए संजय गांधी पीजीआई कर्मचारी महासंघ संस्थान प्रशासन और होने वाली शासी निकाय की बैठक का विरोध करता है जिसके तहत कर्मचारी महासंघ द्वारा 16 जून को प्रशासनिक भवन के मुख्य द्वार पर संस्थान प्रशासन और शासी निकाय की बैठक का सांकेतिक विरोध किया जाएगा और 18 जून को होने वाली शासी निकाय की बैठक का पूरा विरोध किया जाएगा।