प्रो शैली अवस्‍थी ने बढ़ाया केजीएमयू का मान, 28 साल बाद मिली नेशनल साइंस एकेडमी की फेलोशिप

-अब देश की तीनों साइंस अकादमियों की फेलोशिप पा चुकीं हैं प्रो शैली अवस्‍थी

प्रो शैली अवस्‍थी

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय (केजीएमयू) के पीडियाट्रिक विभाग की विभागाध्‍यक्ष प्रो शैली अवस्‍थी को इंडियन नेशनल साइंस एकेडमी द्वारा इस साल रिसर्च और मेडिकल साइंस के क्षेत्र में फेलोशिप प्रदान की गयी है, यह फेलोशिप जनवरी 2021 से मान्‍य होगी। केजीएमयू के अध्‍यापक को इंडियन नेशनल साइंस एकेडमी का यह सम्‍मान 28 वर्षों के लम्‍बे अंतराल के बाद मिला है। इससे पहले केजीएमयू (उस समय केजीएमसी) प्रो शैली अवस्‍थी वर्तमान समय में अकेली ऐसी मेडिकल टीचर हैं जिन्‍हें भारत की तीनों साइंस एकेडमी की फेलोशिप मिल चुकी है।

मिली जानकारी के अनुसार प्रो शैली अवस्‍थी को अब भारत की तीनों साइंस एकेडमी से फेलोशिप मिल चुकी है, इससे पहले वर्ष 2010 में इंडियन एकेडमी ऑफ साइंस, बेंगलुरु और नेशनल एकेडमी ऑफ साइंस, प्रयागराज की फेलोशिप मिल चुकी है। रिसर्च और साइंस के लिए मिलने वाला चिकित्‍सा साइंस के मेडिकल एकेडमिक्‍स को मिलने वाला यह बड़ा सम्‍मान है, जितने भी चिकित्‍सा संस्‍थान हैं, उनमें तीनों साइंस एकेडमी की फेलोशिप किसी के पास नहीं है।

अब तक केजीएमयू में प्रो केपी भार्गव, प्रो यूसी चतुर्वेदी और प्रो आशा माथुर को यह सम्‍मान मिल चुका है। हर साल इंडियन नेशनल साइंस एकेडमी द्वारा विज्ञान के क्षेत्र में करीब 25 से 30 अवॉर्ड दिये जाते हैं, मेडिकल के लिए कभी एक कभी तीन लोगों को मिलते हैं।

अपनी प्रतिक्रिया में प्रो शैली अवस्‍थी ने कहा कि मेरे सहकर्मी और शोध करने वालों के लिए भी यह उतने ही सम्‍मान की बात है जितनी मेरे लिए हैं। उन्‍होंने कहा कि मैं बहुत गौरवान्वित महसूस कर रही हूं कि मेरे कार्य को परखा गया तथा तीनों साइंस अका‍दमियों ने मुझे यह सम्‍मान दिया।