विकास दुबे मामले में प्रियंका गांधी ने उठाये सवाल, की सीबीआई जांच की मांग

-अलर्ट के बावजूद आरोपी का उज्जैन तक पहुंचना कहीं मिलीभगत तो नहीं


लखनऊ। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कानपुर के दुर्दान्‍त अपराधी विकास दुबे के मामले में सीबीआई जांच की मांग की है।

प्रियंका गांधी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर लिखा है कि कानपुर के जघन्य हत्याकांड में यूपी सरकार को जिस मुस्तैदी से काम करना चाहिए था वह पूरी तरह फेल साबित हुई। अलर्ट के बावजूद आरोपी का उज्जैन तक पहुंचना न सिर्फ सुरक्षा के दावों की पोल खोलता है बल्कि मिलीभगत की ओर इशारा करता है।


प्रियंका ने लिखा है कि यूपी सरकार को मामले की सीबीआई जांच करा सभी तथ्यों और प्रोटेक्शन के ताल्‍लुकातों को जगजाहिर करना चाहिए।

आपको बता दें कि आज ही कानपुर में आठ पुलिस वालों की हत्या का मुख्य आरोपी विकास दुबे के उज्जैन से गिरफ्तार हुआ है। बताया जा रहा है कि वह मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल के दर्शन के लिए आया था।


मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उसे सबसे पहले महाकाल मंदिर के गार्ड ने पहचाना और उसी ने इसकी सूचना पुलिस को दी। बता दें कि उसकी तलाश पांच राज्यों की पुलिस कर रही थी। विकास दुबे को ट्रांजिट रिमांड में लेने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस उज्जैन के लिए रवाना हो चुकी है।
गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘विकास दुबे अभी मध्यप्रदेश पुलिस की कस्टडी में है। उन्होंने कहा कि गिरफ्तारी कैसे हुई इसके बारे कुछ भी कहना ठीक नहीं। मंदिर के अंदर या बाहर, कहां से गिरफ्तारी हुई, इसके बारे में कहना ठीक नहीं। विकास क्रूरता की हदें शुरू से ही पार कर रहा था। वारदात होने के बाद से ही हमने पूरी मप्र पुलिस को अलर्ट पर रखा था’

विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी उज्जैन पुलिस को बधाई दी है। साथ ही उन्होंने यह भी ट्वीट किया, ‘जिनको लगता है की महाकाल की शरण में जाने से उनके पाप धूल जाएँगे उन्होंने महाकाल को जाना ही नहीं। हमारी सरकार किसी भी अपराधी को बख्श्ने वाली नहीं है…’