Thursday , August 18 2022

सकारात्‍मक विचारों से बढ़ती हैं रोग प्रतिरोधक क्षमता : ऊषा त्रिपाठी

-नकारात्‍मक शक्तियों पर सकारात्‍मक शक्तियों से विजय पाना संभव

ऊषा त्रिपाठी https://www.pranichealingmiracles.com

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। सकारात्‍मक विचार से रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। मंत्रों में बहुत शक्ति होती है। नकारात्‍मक शक्तियों पर सकारात्‍मक शक्तियों की सहायता से विजय पायी जा सकती है, इसमें मंत्रोच्‍चार की बहुत अहम् भूमिका है।

यह जानकारी देते हुए योगिक मानसिक चिकित्‍सा सेवा समिति की संचालिका, समाजसेविका व प्राणिक हीलर ऊषा त्रिपाठी ने बताया कि विभिन्‍न प्रकार के दुखों के नाश के लिए अलग-अलग मंत्रों का वर्णन धर्मग्रंथों में किया गया है। दुर्गा सप्‍तशती में भी अनेक प्रकार के मंत्रों को वर्णन किया गया है। यहां पेश हैं कुछ ऐसे ही मंत्र-

यह भी पढ़ें – कोरोना महामारी के इस दौर में करें मंत्रों का जाप : ऊषा त्रिपाठी