Thursday , June 30 2022

पूरब-पश्चिम-उत्‍तर-दक्षिण के प्रतिभागियों ने सीखे जीवन बचाने के गुर

केजीएमयू में तीन दिवसीय एडवांस ट्रॉमा लाइफ सपोर्ट ट्रेनिंग वर्कशॉप सम्‍पन्‍न

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के इंस्टीट्यूट ऑफ स्किल द्वारा निरंतरता बनाए रखते हुए आज 20 जुलाई को 16वां तीन दिवसीय ‘एडवांस ट्रॉमा लाइफ सपोर्ट’ ट्रेनिंग वर्कशॉप सम्पन्न हुई। इस कार्यक्रम की विशेषता यह थी कि इस कार्यशाला में प्रतिभाग करने वाले प्रतिभागी सम्पूर्ण भारत से आए थे, जिसमें तामिलनाडू, हैदराबाद, हरियाणा, श्रीनगर, दिल्ली, कोलकाता, पुणे, वाराणसी, लखनऊ और यूनाइटेड किंगडम के प्रतिभागी मुख्य रूप से शामिल रहे।

इंस्‍टीट्यूट के निदेशक प्रो विनोद जैन ने यह जानकारी देते हुए बताया कि कार्यशाला में सभी प्रतिभागियों को जीवन रक्षक प्रक्रियाओं के व्यावहारिक एवं क्रियाशील प्रशिक्षण देने के साथ-साथ इस बात पर भी विशेष बल दिया गया कि वह अपने-अपने क्षेत्रों के ट्रॉमा सेंटर को चिन्हित करें और उनकी नेटवर्किंग का प्रयास करें, जिससे एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल रेफर करते समय मरीज को भटकना न पड़े तथा रेफर किये जाने के उपरांत उसे कम से कम समय में उचित उपचार दिया जा सके। क्योंकि इस बार प्रतिभागी भारतवर्ष के सभी क्षेत्रों से थे तो इस बात पर भी जोर दिया गया कि गरीब से गरीब व्यक्ति को भी एक समान इलाज की सुविधा उपलब्ध हो सके।

कार्यक्रम समापन के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट ने सभी प्रतिभागियों को कोर्स पूरा करने पर बधाई देते हुए उन्हें इस बात के लिए प्रेरित किया कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर अन्य लोगों को प्रशिक्षित करें, जिससे अन्य लोगों को भी इसका लाभ मिल सके।

प्रशिक्षक के रूप में और इंस्टीट्यूट ऑफ स्किल के निदेशक डॉ विनोद जैन, ट्रॉमा सर्जरी के विभागाध्यक्ष डा संदीप तिवारी, डॉ समीर मिश्रा, डॉ संदीप साहू, डॉ क्षितिज श्रीवास्तव, डॉ विकास सिंह, डॉ नेहा ठाकुर, डॉ कुलरंजन आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे तथा कोर्स की को-ऑर्डिनेटर शालिनी गुप्ता थीं।