यूपी में कोरोना से सर्वाधिक मौतें 60 वर्ष से ज्‍यादा आयु वालों की

-कोविड से अब तक 1008 लोगों की मौत हो चुकी है यूपी में

अमित मोहन प्रसाद

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने कहा है कि अब तक कोरोना संक्रमण से जो मृत्यु हुयी हैं, उनमें सबसे ज्‍यादा मौतें 60 वर्ष से ज्‍यादा आयु वालों की हुई हैं, इस वर्ग में 45.38 प्रतिशत मौतें हुई हैं। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत 94.40 है।

लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए उन्‍होंने बताया कि इसके अतिरिक्‍त 0-10 आयु वर्ग के 0.82 प्रतिशत, 11-20 आयु वर्ग के 1.36 प्रतिशत, 21-30 आयु वर्ग के 4.41 प्रतिशत, 31-40 आयु वर्ग के 8.33 प्रतिशत, 41-50 आयु वर्ग के 14.70 प्रतिशत  तथा 51-60 आयु वर्ग के 25.01 प्रतिशत लोगों की कोविड संक्रमण से मौत हुई है।

उन्‍होंने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,51,599 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,96,18,283 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना से संक्रमित 1799 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 22,797 कोरोना के एक्टिव मामले हैं, जिनमें 1348 लोग होम आइसोलेशन में हैं। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 3,14,507 लोग होम आइसोलेशन की सुविधा प्राप्त करते हुए 3,03,929 लोगों ने अपने होम आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर ली है। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 2138 लोग इलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त बाकी मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 2607 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। अब तक कुल 5,16,694 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं।
प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,67,475 क्षेत्रों में 4,73,335 टीम दिवस के माध्यम से 2,97,97,148 घरों के 14,55,51,776 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।

श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश के सभी जनपदों में संक्रमित क्षेत्रों की मैपिंग की जा रही है। जिसके माध्यम से संक्रमित इलाकों, मोहल्लों को उक्त मैपिंग के माध्यम से चिन्हित किया जा रहा है। इन चिन्हित स्थानों की फोकस टेस्टिंग 4 से 10 दिसम्बर तक करायी जायेगी। उन्होंने कहा कि संक्रमण को नियत्रिंत करने में संक्रमण की शृंखला को तोड़ना आवश्यक है। इसके लिए अभियान चलाकर टारगेटेड सैम्पिलिंग के माध्यम से संक्रमित लोगों की पहचान की जा रही है तथा संक्रमित लोगों को आवश्यकतानुसार होम आइसोलेट या अस्पताल में उनका इलाज कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोविड से सम्बन्धित किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए कोविड हेल्प लाइन पर सम्पर्क कर सकते है। कोविड-19 से बचाव हेतु सतर्कता बरते तथा सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनें, हाथ धोते रहें, लोगो से सोशल डिस्टेंसिंग रखें तथा भीड़भाड़ से दूरी बनाये रखें। विशेषकर बच्चे, बुजुर्ग, गर्भवती महिलाएं तथा पहले से बीमार व्यक्तियों को सार्वजनिक कार्यक्रम/स्थानों से दूर रखकर संक्रमण से सुरक्षित किया जा सकता है।

श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में फोकस टेस्टिंग के अभियान के तहत 1, 2 व 3 दिसम्बर  को विशेष अभियान चल रहा है। जिसके अन्तर्गत टीम द्वारा बैण्ड-बाजा, लाइट, टैण्ट, मैरिज हॉल, डीजे के स्टाफ की फोकस टेस्टिंग करायी जा रही है।