18 मार्च को चिकित्‍सा, परिवहन सहित दूसरी सेवाएं होंगी बाधित!

-राज्‍य कर्मचारियों की पूरे प्रदेश में धरना, उपवास की तैयारियां पूरी, हाईकमान की बैठक में आयोजन पर चर्चा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ लम्‍बे समय से लंबित चल रही मांगों को लेकर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश के आह्वान पर कल 18 मार्च को प्रदेश के सभी जनपदों में कर्मचारी एक दिवसीय धरना देंगे और उपवास रखेंगे। इसके चलते जनता से सीधे जुड़ी चिकित्‍सा, परिवहन जैसी सेवाओं पर प्रभाव पड़ना लगभग तय है। राजधानी लखनऊ में यह धरना, उपवास हजरतगंज में जीपीओ पार्क में आयोजित किया गया है। जबकि जिलों में जिला मुख्‍यालयों जैसे स्‍थानों पर आयोजित किया गया है।

परिषद के महामंत्री अतुल मिश्रा ने बताया कि आज परिषद के कैंप कार्यालय वन विभाग में हाईकमान की बैठक संपन्न हुई जिसमें प्रदेश के सभी जनपदों में पदाधिकारियों से दूरभाष पर बात कर कार्यक्रम की समीक्षा की गई।

परिषद के संगठन प्रमुख के के सचान, अध्यक्ष सुरेश रावत, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गिरीश मिश्रा, प्रमुख उपाध्यक्ष सुनील यादव, उपाध्यक्ष सतीश यादव, सचिव डॉ पी के सिंह, फार्मासिस्ट फेडरेशन महासंघ के महामंत्री अशोक कुमार ने समीक्षा के बाद अवगत कराया कि प्रदेश के सभी मंडलों में जो मंडल प्रभारी मनोनीत किए गए थे उनसे भी समीक्षा की गई।

कल के कार्यक्रम में चिकित्सा स्वास्थ्य परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा, वन विभाग, समाज कल्याण, सिंचाई, शिक्षा, नगर निगम, कृषि,परिवहन रोडवेज, व्यापार कर, केजीएमयू, लोहिया संस्थान, माध्यमिक बेसिक शिक्षा, उच्‍च शिक्षा आदि विभागों के कर्मचारी उपवास धरने में शामिल होंगे। धरने के उपरांत प्रस्ताव पारित कर मांगों के समर्थन में ज्ञापन मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव को प्रेषित किया जाएगा।

वहीं लखनऊ शाखा के अध्यक्ष सुभाष श्रीवास्तव, मंत्री संजय पांडे, आरएनडी द्विवेदी की टीम ने जन जागरण किया। सिविल अस्पताल, लोहिया सहित विभिन्न विभागों में कर्मचारियों से मुलाकात कर पैम्‍फलेट बांटकर मांगों से अवगत कराया गया।