Wednesday , November 10 2021

सभी क्षेत्रों में सामान्‍य लोगों की तरह दिव्‍यांग भी अहम् योगदान दे रहे

डीपीएमआर ने मनाया विश्‍व दिव्‍यांग दिवस  

 

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के डिपार्टमेंट ऑफ फिजिकल मेडिसिन एण्ड रिहेबिलि‍टेशन द्वारा विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर दिव्यांगजनों को निशुल्क कृत्रिम अंग, व्हीलचेयर, ट्राईसाईकिल एवं बैसाखी आदि का वितरण किया गया। इसके साथ ही विभाग द्वारा दिव्यांगों के लिए खेल-कूद प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। इस अवसर पर चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एमएलबी भट्ट बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे।

 

इस अवसर पर चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एमएलबी भट्ट ने कहा कि दिव्यांग जन किसी प्रकार से खुद को उपेक्षित न समझें, वह भी समाज के हर क्षेत्र में सामान्य व्यक्तियों की तरह अपना अहम योगदान दे रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग सहित कई अन्य दिव्यांगों का उदाहरण देते हुए समाज के लिए इनके द्वारा दिए गए योगदान का स्मरण करते हुए कहा कि केजीएमयू डिपार्टमेंट ऑफ फिजिकल मेडिसिन एण्ड रिहेबिलि‍टेशन के माध्यम से दिव्यांगों को अच्छी से अच्छी सुविधा व चिकित्सा सेवा उपलब्ध करवा रहे हैं।

 

इस अवसर पर कुलपति ने दिव्यांगों के क्षेत्र में सहयोग करने वाली समाजसेवी संस्था मंगला गौरी सेवा संस्थान, लायन्स क्लब प्रतिष्ठा, ड्रीम इंडिया संस्थान एवं हरिओम सेवा केन्द्र आदि का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सहयोग करने वाली समाज सेवी संस्थाएं अच्छा कार्य कर रहीं है। उन्होंने बताया कि दिव्यांग जनों के चिकित्सा एवं उपचार के लिए पीएमआर विभाग में अत्याधुनिक उपकरण स्थापित करा दिए गए हैं तथा कृत्रिम अंगों एवं सहायक कृत्रिम अंगों को काफी कम समय एवं लागत में दिए जाने के लिए कुछ आधुनिक उपकरण कृत्रिम अंग कार्यशाला में उपलब्ध करा दिए जाएंगे।

 

कुलपति ने कहा कि दिव्यांगों के प्रति समाज द्वारा उपेक्षित किए जाने की वजह से उनके अंदर हीनभावना आ जाती है, जिसे दूर करना भी हमारा कर्तव्य है। उन्होंने सेवा परमोधर्मः को सबसे बड़ा धर्म बताते हुए कहा कि निःस्वार्थ भाव से की जाने वाली सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं होता है।

 

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य आयोजनकर्ता एवं फिजिकल मेडिसिन एण्ड रिहेबिलि‍टेशन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ अनिल कुमार गुप्ता ने दिव्यांगों के क्षेत्र में काम कर रही समाज सेवी संस्थाओं का धन्यवाद देते हुए उनसे अपना सहयोग निरंतर बनाए रखने का अनुरोध किया।

 

इस अवसर पर खेलकूद प्रतियोगिता में भाग लेने वाले दिव्यांग जनों को विभागाध्यक्ष डॉ अनिल कुमार गुप्ता, डॉ दिलीप, डॉ गणेश, एके निगम आदि के द्वारा पुरस्कार एवं प्रमाण पत्र प्रदान किए गए तथा कुलपति द्वारा विभिन्न समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों एवं खेल प्रतियोगिता में भाग लेने वाले 30 प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया।

 

खेल-कूद प्रतियोगिता में जलती हुई मोमबत्तियों को एक साथ बुझाने की प्रतियोगिता में राजकुमार प्रथम, विजय कुमार द्वितीय तथा जावेद ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार से गुब्बारा फुलाने की प्रतियोगिता में अमजद अली को पहला स्थान, नगमा शेख को दूसरा स्थान तथा विशाल पाल को तीसरा स्थान हासिल हुआ। इसके साथ ही वॉलीबॉल को गोल पोस्ट में डालने वाली एक अन्य खेल प्रतियोगिता में राम सुनेही को पहला स्थान, महादेव को दूसरा स्थान तथा राम सुख यादव को तीसरा स्थान हासिल हुआ।

 

इस अवसर पर मुख्य रूप से डिपार्टमेंट ऑफ फिजिकल मेडिसिन एण्ड रिहेबिलि‍टेशन के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ एके अग्रवाल सहित कई अन्य कर्मचारी व डॉक्टर उपस्थित रहे।