Wednesday , August 24 2022

केजीएमयू में 10 और डायलिसिस मशीनें लगींं, ओपीडी भी होगी हफ्ते में तीन दिन

-अब रोजाना 60 से 70 डायलिसिस हो सकेंगी, पीपीपी मोड पर लगी हैं नयी मशीनें

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के नेफ्रोलॉजी विभाग में आज बुधवार को 10 नई डायलिसिस मशीनों का पीपीपी मोड पर संचालन प्रारंभ किया गया है, अभी तक यहां 25 डायलिसिस की मशीनें लगी थीं अब यह संख्या 35 हो गई है, इससे मरीजों का इंतजार समाप्त होगा और प्रतिदिन 60 से 70 व्यक्तियों की डायलिसिस होगी।

यह जानकारी देते हुए नेफ्रोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डॉ विश्वजीत ने बताया कि शताब्दी चिकित्सालय भवन के द्वितीय तल पर पीपीपी मोड के अंतर्गत इन मशीनों के संचालन की शुरुआत कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट द्वारा की गई। उन्होंने बताया कि वर्तमान में औसतन 35 डायलिसिस प्रतिदिन की जा रही हैं, अब 10 नई डायलिसिस मशीनों के लग जाने से और शुक्रवार को भी ओपीडी शुरू किए जाने से कुल 60 से 70 मरीजों की रोज डायलिसिस होना संभव हो सकेगा।

उन्होंने बताया कि अभी आने वाले समय में 15 और डायलिसिस मशीनों को पीपीपी मॉडल पर स्थापित करने की प्रक्रिया जारी है, इसके आरंभ हो जाने से मरीजों को और आसानी हो जाएगी। उन्होंने बताया कि इस समय नेफ्रोलॉजी विभाग में डिजिटल ओपीडी सोमवार एवं बुधवार को सुबह 9:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक चलाई जा रही है, इसके अलावा अब शुक्रवार को भी प्रातः 9:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक ओपीडी शुरू की जाएगी जिससे सप्ताह में 3 दिन ओपीडी होने से मरीज डिजिटल या व्यक्तिगत रूप से संपर्क कर डायलिसिस का लाभ उठा सकते हैं। मशीनों के संचालन शुरू होने के मौके पर प्रति कुलपति प्रोफेसर जी पी सिंह, कुलसचिव आशुतोष कुमार द्विवेदी, वित्त अधिकारी मोहम्मद जमा, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक प्रो एस एन संखवार तथा चिकित्सा अधीक्षक प्रो.बीके ओझा भी उपस्थित रहे।