Saturday , August 20 2022

आईएमए की मांग, डॉ सुनील अग्रवाल को दें कोरोना शहीद का दर्जा

-मुख्‍यमंत्री को लिखे पत्र में परिवार को एक करोड़ की सहायता की भी मांग

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की लखनऊ शाखा ने मांग की है कि उरई के जिला अस्पताल में कार्यरत डॉ सुनील अग्रवाल कोरोना वार्ड में कार्य करते हुए संक्रमित हो गए थे उन्होंने इस बीमारी से लोगों की सेवा करते हुए अपने प्राणों का बलिदान दिया है, इसलिए उन्हें कोरोना संघर्ष के शहीद का दर्जा देकर उनका सम्मान किया जाए तथा उनके परिवार को अनुदान स्वरूप एक करोड़ रुपए की सहायता प्रदान की जाए जिससे उनके परिवार के पालन-पोषण में मदद मिले।

एसोसिएशन की अध्यक्ष डॉ रमा श्रीवास्तव तथा सचिव डॉ जे डी रावत की ओर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सम्‍बोधित पत्र में यह मांग की गई है। पत्र में लिखा है कि डॉ सुनील अग्रवाल आई एम ए उरई के सदस्य थे एवं जिला अस्पताल, उरई में वरिष्ठ चिकित्‍सक के पद पर तैनात थे। वर्तमान में डॉ सुनील अग्रवाल राजकीय मेडिकल कॉलेज उरई (जालौन) के कोरोना आइसोलेशन वार्ड में कार्यरत थे, जहां वह अपनी चिकित्सकीय सेवाएं देते हुए संक्रमणग्रस्त हो गए थे।

उन्हें तत्काल लखनऊ के किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में भर्ती कराया गया था, लगभग 15 दिन तक मौत से संघर्ष करते हुए 10 मई को उनकी मृत्यु हो गई। आई एम ए लखनऊ ने इस संबंध में आज एक शोक सभा का आयोजन किया, जिसमें डॉ अग्रवाल को भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई।