Sunday , July 18 2021

डायबिटीज है तो इस तरह कायम रखें होली की मिठास और करिये एनज्‍वॉय

-केजीएमयू की चीफ डाइटीशियन सुनीता सक्‍सेना से बातचीत

सुनीता सक्सेना

धर्मेन्‍द्र सक्‍सेना

लखनऊ। होली का नाम आते ही मन में उल्लास और उमंग का संचार होने लगता है होली जो ढेर सारे पकवानों के बनाने का त्यौहार है,  इस त्‍यौहार में  तरह-तरह के व्यंजन बनाना और उसका लुत्फ उठाना परम्‍परा है। ऐसे में जो पहले से रोग व्यस्त है और कुछ न कुछ परहेज के साथ खाना खाते हैं उन्हें अपना मन मार कर या तो होली के पकवानों से दूर रहना पड़ता है अथवा वे बिना सोचे-समझे खाने से स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाते हैं।

शरीर को क्या और कितना खाना है इस बारे में डाइटिशियन यानी आहार रोग विशेषज्ञ बेहतर तरीके से बता सकते हैं। इस बारे में ‘सेहत टाइम्स’ ने कुछ आहार विशेषज्ञों से बात की। आम हो चुके रोगों से व्यस्त व्यक्तियों को क्या खाना चाहिए जिससे कि वह त्यौहार का लुत्फ भी उठा सकें और स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से भी उचित हो।

इस बारे में किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) की चीफ डाइटिशियन सुनीता सक्सेना का कहना है कि‍ डायबिटीज के रोगी को सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि हमारे शरीर की जरूरत कितनी है। इस जरूरत को शरीर की लंबाई और वजन से निर्धारित किया जाता है जिसे बीएमआई यानी बॉडी मास इंडेक्स कहते हैं। बीएमआई में यह तय कर लिया जाता है कि अमुक व्यक्ति को दिन भर में कितने कैलोरी के खाने की आवश्यकता है इसके अनुसार ही दिनभर की डाइट निश्चित कर ली जाती है। बीएमआई के इस निर्धारण और डाइट चार्ट को डायटीशियन से तैयार करवाया जा सकता है।

सुनीता सक्सेना ने बताया कि स्वादिष्ट व्यंजनों की महक के बीच डायबिटीज पर कंट्रोल रखना बहुत चुनौतीपूर्ण हो जाता है, चुनौती होती है कि शुगर भी कंट्रोल में रहे और होली की मौज मस्ती भी बरकरार रहे, इसलिए डायबिटीज वाले कुछ चीजों का ध्यान रखें जिससे त्यौहार के पकवानों और स्वास्‍थ्‍य में तालमेल बना रहे।

क्‍या-क्‍या खा सकते हैं

सुनीता सक्सेना ने बताया कि कुछ प्रचलित व्यंजन जैसे दही बड़ा, ढोकला, इडली, नारियल चटनी, फलों की चाट, अंकुरित चाट, घर की बनी नमकीन एवं भाप से पकने वाले खाद्य पदार्थ को लेकर खाने का लुत्फ भी ले सकते हैं और शुगर भी कंट्रोल रहेगी। उन्होंने बताया कि कुछ पेय पदार्थ जैसे कोल्ड ड्रिंक्स, बाजार के पैकेट वाले जूस, शरबत, ठंडाई मीठी की जगह छाछ, मट्ठा, नमकीन लस्सी, बिना चीनी की ठंडाई, जलजीरा, नींबू शिकंजी नमकीन वाली आदि को लिया जा सकता है।

उन्होंने बताया कि कुछ नाश्ते जैसे घर के बने मखाने, चूरा, नमकीन, सूजी आटे की मठरी, बेसन के सेव आदि ले सकते हैं। सुनीता कहती हैं कि इस त्यौहार में जब तक गुजिया ना खाई जाए तो कुछ अधूरा अधूरा सा लगता है तो डायबिटीज वाले व्यक्ति गुजिया को ले सकते हैं पर ड्राई फ्रूट की, रवा की (बिना चीनी के) बेक्‍ड एवं घर की बनी हो। गुजिया अगर छोटे आकार की हो तो एक बार में एक ही गुजिया खायें। यदि मीठी खाते हैं तो एक गुजिया खाएं लेकिन एक रोटी कम कर दें तो इस प्रकार से गुजिया भी खाई जा सकती है साथ ही शुगर भी कंट्रोल कर सकते हैं।

सुनीता सक्सेना ने बताया कि इन व्‍यंजनों को खाने में किस प्रकार तालमेल बैठायें, इसके लिए यहां कुछ चीजों की कैलोरी वैल्यू दी जा रही है। अपनी दिन भर की कैलोरी को ध्‍यान में रखते हुए भोजन और नाश्‍ते में तालमेल करते हुए खाद्य पदार्थों का चुनाव कर सकते हैं।

व्‍यंजन का नाम                            कैलोरी

पेय पदार्थ

मीठी ठंडाई 250 मिली                     180-220  

फीकी ठंडाई 250 मिली                    100-110

जलजीरा एक गिलास                       50-60

संतरे का रस एक गिलास             100 

छाछ या मट्ठा एक गिलास                   30-60

नमकीन नींबू शिकंजी                       20-25

अन्य पकवान

खोए की गुजिया एक पीस                    240  

चाशनी की गुजिया एक पीस                  430-470

सूजी की गुजिया एक पीस                  212-220

दही बड़ा एक पीस                           110

मीठे बेसन के सेव 30 ग्राम                   250

नमकीन बेसन के सेव एक छोटी कटोरी        150-170

फलों की चाट एक प्‍लेट                      70-75

मटर चाट एक प्‍लेट                         125-140

मीठी मठरी 30 ग्राम                         350

नमकीन मठरी 30 ग्राम                       260-280

गुलाब जामुन एक पीस                       225

छेने का रसगुल्‍ला एक पीस                 180

दिल के रोगी पकवानों को लेकर न करें दिल छोटा,  इस तरह खायें : मृदुल विभा  

मृदुल विभा

हृदय रोग विभाग की डाइटिशियन मृदुल विभा का कहना है कि गुजिया खाने का मन है तो तली हुई गुजिया की जगह बेक की हुई गुजिया खायें, गुजिया बनाने में मैदे की जगह आटे का प्रयोग करें। खोए की जगह मिल्क पाउडर का खोया और ड्राई फ्रूट्स का इस्तेमाल करें, चीनी की जगह खजूर या स्‍टीविया की पत्‍ती  का प्रयोग कर सकते हैं।

० मठरी में आटा और सूजी या ओट्स का प्रयोग करें साथ में पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक मेथी आटे में मिला सकते हैं।

० दही बड़ा बनाने के लिए मिक्स दाल का दही बड़ा बना सकते हैं जो खाने में टेस्टी होगा और स्वास्थ्यवर्धक भी।

० नमक या चीनी के ड्राई फ्रूट की जगह सादी ड्राई फ्रूट प्रयोग करें।

० छोले-टिक्की जैसी चीजों को प्रमुखता दें।

० होली के बाद 15 दिन शरीर को डीटॉक्सिफाई करें इसके लिए आप किसी योग्य डाइटीशियन की मदद भी ले सकते हैं। पानी ज्‍यादा से ज्‍यादा पीयें।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com