पेशाब में आये खून तो तत्काल लें परामर्श, क्‍योंकि शुरुआती कैंसर में पूर्ण इलाज संभव

-केजीएमयू के सर्जरी विभाग की शैक्षणिक कार्यशाला में डॉ पाहवा ने दी जानकारी
डॉ एच एस पाहवा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। अगर किसी व्यक्ति को पेशाब में खून आता है तो उसे बिना कोई विलम्‍ब किये डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए क्योंकि यह संक्रमण पेशाब की थैली, गुर्दे या प्रोस्टेट कैंसर का लक्षण हो सकता है।

यह जानकारी किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के सर्जरी विभाग के स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित शैक्षणिक सप्ताह कार्यक्रम में सर्जन डॉ एच एस पाहवा ने दी। उन्होंने बताया कि पेशाब में खून आने पर घबराने की जगह सचेत होकर शीघ्र अति शीघ्र उचित परामर्श और इलाज किए जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा आजकल सभी परिस्थितियों में कैंसर का भी कारगर इलाज उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि पेशाब की थैली के कैंसर की शुरुआती स्थिति में दूरबीन विधि द्वारा ट्यूमर निकाल दिया जाता है और अन्य दवाओं का उपयोग करके पेशाब की थैली को बचाया जा सकता है लेकिन अगर बीमारी बढ़ जाती है तो पूरी पेशाब की थैली निकाली जाती है।

इसके अलावा इसमें कीमोथेरेपी व बिजली की सिकाई भी कारगर होती है बाबा ने बताया कि इसी प्रकार गुर्दे के कैंसर में भी शुरुआती स्थिति में कैंसर ग्रस्त भाग निकाल कर के बाकी गुर्दा बचाया जा सकता है। इसके कारणों के बारे में डॉ पाहवा ने बताया कि धूम्रपान, मिलावटी खाद्य पदार्थ, प्रदूषण, अनियमित भोजन व दिनचर्या के कारण इस तरह की बीमारियां हो रही हैं, इसलिए लोगों को चाहिए कि वे नियमित और संयमित आहार लें साथ ही व्यायाम के लिए समय अवश्य निकालें।