एसोसिएशन ऑफ़ सर्जन्स ऑफ़ इंडिया के यूपी चैप्टर के अध्‍यक्ष बने डॉ विनोद जैन

मेरठ में आयोजित यूपी चैप्‍टर के 45वें वार्षिक सम्‍मेलन में सर्वसम्‍मति से चुना गया अध्‍यक्ष
डॉ विनोद जैन

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ/मेरठ। किेंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय (केजीएमयू) के सर्जरी विभाग के प्रोफेसर विनोद जैन को सर्वसम्‍मति से एसोसिएशन ऑफ़ सर्जन्स ऑफ़ इंडिया के यूपी चैप्टर का अध्‍यक्ष चुना गया है। डॉ जैन वर्ष 2021 केे लिए  अध्‍यक्ष के रूप में पदभार सम्‍भालेंगे।  यह घोषणा एसोसिएशन ऑफ़ सर्जन्स ऑफ़ इंडिया के यूपी चैप्टर के मेरठ में लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज में हो रहे 45वें वार्षिक सम्मेलन में की गयी।

डॉ विनोद जैन का इस पद पर निर्विरोध चयन इनकी योग्यता कर्मठता एवं विश्वसनीयता को देखकर किया गया है। इस पर प्रतिक्रिया में डॉ  विनोद जैन का कहना है कि यह एक महत्वपूर्ण ज़िम्मेदारी है वे अपने पद का निष्ठापूर्ण निर्वहन करेंगे।

डॉ जैन ने कहा कि उनका ऐसा मानना है कि यदि उत्तर प्रदेश के समस्त सर्जन आपस में एक दूसरे का सहयोग देते हुए मरीज़ों की सेवा करेंगे तो उसे सर्जन एवं मरीज़ों के बीच में विश्वास बढ़ेगा सर्जनों को भी अपनी योग्यता के अनुसार पूरी सेवा देने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि सभी सर्जनों को समय-समय पर अपनी कुशलता का परिमार्जन करना चाहिए इसके लिए वे नियमित रूप से देश विदेश में होने वाले सम्मेलनों में भाग लें एवं नित नयी शोधों से अवगत हों, इसका सीधा लाभ मरीज़ों को मिलेगा।

डॉ विनोद जैन ने यह भी कहा कि सभी सर्जनों को मेडिकल एथिक्स का पालन अवश्य करना चाहिए उन्हें एक दूसरे की बुराई नहीं करनी चाहिए तथा उन्हें ऐसे सभी सर्जनों को मेडिकल एथिक्स के पालन के लिए प्रेरित करना चाहिए जो भूलवश ऐसा नहीं कर पा रहे हैं। सम्‍मेलन में मौजूद समस्त लोगों ने उनकी योग्यता की सराहना करते हुए उनके निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने पर उनको बधाई दी और विश्वास जताया कि उनके कार्यकाल में यूपी चैप्टर और भी अधिक प्रगति करेगा।

आपको बता दें कि डॉ विनोद जैन पिछले साल 32 वर्षों से एसोसिएशन ऑफ़ सर्जन्स ऑफ़ इंडिया के आजीवन सदस्‍य हैं तथा पिछले पिछले 34 वर्षों से सर्जरी की विधा द्वारा जनता की सेवा कर रहे हैं। वर्तमान में वह किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के सर्जरी विभाग के प्रोफ़ेसर है इसके साथ ही वे स्किल इंस्टीट्यूट के भी प्रभारी है तथा पैरा मेडिकल संकाय के डीन होने के साथ-साथ हाल ही में मिला केजीएमयू रेडियो के एग्जिक्यूटिव ऑफ़िसर के भी दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं।