Saturday , May 14 2022

लोहिया संस्‍थान में मस्तिष्‍क के जटिल ट्यूमर का बिना सर्जरी होगा इलाज

-गामा नाइफ की सुविधा वाला उत्‍तर प्रदेश का पहला केंद्र होगा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। मस्तिष्क में होने वाले जटिल ट्यूमर को बिना सर्जरी गामा नाइफ से निकाले जाने की सुविधा अब लखनऊ स्थित डॉ राम मनोहर लोहिया चिकित्सा संस्थान में भी उपलब्ध होगी। उत्तर प्रदेश में यह सुविधा अभी कहीं भी उपलब्ध नहीं है, अभी यह सुविधा नई दिल्ली, चंडीगढ़ तथा बेंगलुरु में ही उपलब्ध है।

यह जानकारी संस्थान के मीडिया प्रभारी डॉ विक्रम सिंह ने देते हुए बताया है कि गामा नाइफ एक ऐसी उपचार पद्धति है जिससे मरीज को सिर में बिना चीरा लगाये, गामा किरणों की मदद से ट्यूमर को जलाया जाता है। यही नहीं ट्यूमर के आसपास की सामान्य कोशिकाओं पर इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। उन्होंने बताया कि मरीज के मस्तिष्क में यदि ऐसी जगह पर ट्यूमर है, जहां ऑपरेशन से ट्यूमर नहीं निकाला जा सकता है, उस ट्यूमर को भी गामा नाइफ की किरणों से जलाया जा सकता है।

डॉ विक्रम ने बताया कि इसके अतिरिक्त ब्रेन ट्यूमर के उपचार के लिए सामान्य विधि से ऑपरेशन के लिए जहां चिकित्सालय में हफ्तों भर्ती रहना पड़ता है, वहीं गामा नाइफ के उपचार में मरीज को 4 घंटे में ही चिकित्सालय से छुट्टी दे दी जाती है।

डॉ विक्रम ने बताया कि इस विधि से सिर्फ ब्रेन ट्यूमर का ही इलाज नहीं किया जाता है, बल्कि 2 दर्जन से ज्यादा रोगों जैसे एकाउस्टिक न्यूरोमा, वैस्कुलर मालफॉर्मेशन, मिर्गी इत्‍यादि का भी इलाज संभव है। उन्होंने बताया कि गामा नाइफ से प्रतिवर्ष लगभग 1000 मरीजों का उपचार किया जाएगा, जिससे लंबी प्रतीक्षा सूची को कम करने में मदद मिलेगी।