सराहनीय दृष्टिकोण : पर्यावरण की रक्षा के लिए नो कार-बुधवार

केजीएमयू के कुलपति ने पत्र जारी कर संस्‍थान के सभी लोगों से की अपेक्षा

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍व विद्यालय केजीएमयू में पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने की नयी पहल शुरू की गयी है। कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट ने एक आदेश जारी करते हुए केजीएमयू में कार्य करने वाले संकाय सदस्‍यों से लेकर कर्मचारियों तक सभी से अपेक्षा की है कि एक दिन अपने वाहन का प्रयोग न कर संस्‍थान में आवागमन के लिए वैकल्पिक व्‍यवस्‍था करें। आपको बता दें केजीएमयू के प्रो संदीप तिवारी ने पिछले दिनों संस्‍थान साइकिल से आकर यह घोषित किया था कि उन्‍होंने सप्‍ताह में एक दिन साइकिल चलाने का फैसला लिया है। यही नहीं इस सम्‍बन्‍ध में उन्‍होंने कुलपति से अनुरोध किया था।

 

कुलपति द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि वर्तमान परिवेश में व़ातावरण में प्रदूषण का स्‍तर निरंतर बढ़ता जा रहा है, जो कि हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अत्‍यंत ही हानिकारक है। राज्‍य सरकार, केंद्र सरकार तथा विभिन्‍न गैर सरकारी संस्‍थाओं-समूहों द्वारा विभिन्‍न परियोजनाओं तथा प्रयासों के द्वारा प्रदूषण के स्‍तर को नियंत्रित करने के हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं। केजीएमयू मरीजों के चिकित्‍सा एवं छात्र-छात्राओं के शिक्षण एवं प्रशिक्षण के दृष्टिगत अत्‍यंत ही संवेदनशीन संस्‍थान है। इस संस्‍थान में स्‍वच्‍छ एवं उत्‍तम वातावरण का होना मरीजों तथा चिकित्‍सा विश्‍व विद्यालय में अध्‍ययनरत छात्र-छात्राओं एवं कार्यरत सभी के लिए अत्‍यंत ही अपरिहार्य है। साथ ही साथ इस संस्‍थान में प्रदूषण को नियंत्रित कर स्‍वच्‍छ एवं उत्‍तम वातावरण को बनाये रखना हम सभी की नैतिक जिम्‍मेदारी भी है।

 

पत्र में कहा गया है कि इसलिए सभी से अपेक्षा की जाती है कि हम सभी सप्‍ताह में एक दिन (बुधवार) को व्‍यक्तिगत वाहनों का प्रयोग न करते हुए वैकल्पिक साधनों से केजीएमयू में आवागमन करें, जिससे सप्‍ताह में एक दिन बुधवार को चिकित्‍सा विश्‍व विद्यालय परिसर में वाहनों का आवागमन न्‍यूनतम रहे।