80 वर्ष के हो चुके माथुर रेडियोज का दायरा और बढ़ा

इन्दिरा नगर में माथुर हियरिंग केयर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का शुभारम्‍भ

लखनऊ। वर्ष 1939 में एसी माथुर ने लालबाग में माथुर रेडियोज का जो पौधा लगाया था, आज वह अनेक शाखाओं के साथ एक फलदार वृक्ष के रूप में लहलहा रहा है। इस प्रतिष्‍ठान रूपी वृक्ष की एक और शाखा माथुर हियरिंग केयर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का शुभारम्‍भ आज यहां इन्दिरा नगर में हुआ। इसका उद्घाटन प्रदेश के विकलांग कल्याण विभाग के उपनिदेशक अमित राय द्वारा फीता काटकर किया गया। आपको बता दें माथुर रेडियोज कम सुनायी पड़ने वाले व्‍यक्तियों को लगने वाले हियरिंग एड के क्षेत्र में कार्य कर रहा है।

 

इसके प्रोप्राइटर माधवेन्‍द्र चन्‍द्रा ने प्रतिष्‍ठान की इस नयी शाखा के मौके पर कहा कि यह हमारे ग्राहकों का प्‍यार है जो हमें उन तक आसान पहुंच का रास्‍ता बनाने को प्रेरित करते रहते हैं। इस मौके पर उन्‍होंने प्रतिष्‍ठान के संस्‍थापक और अपने पिता एसी माथुर को याद करते हुए कहा कि यह उनकी ही मेहनत का परिणाम है जिससे प्रेरणा लेकर मैं प्रतिष्‍ठान को इस मुकाम पर पहुंचाने में कामयाबी हासिल कर सका हूं।

आपको बता दें कि लखनऊ व आसपास के क्षेत्रों में ‘माथुर रेडियोज’ एक ऐसा नाम है जिसने एक छोटे पैमाने पर दिव्यांग जनों की सहायता के लिए एक पहल की शुरुआत 1939 में की थी। अस्सी सालों में वो एक प्रतिष्ठित नाम बन गया है। माथुर रेडियोज की आज तीसरी शाखा का शुभ उद्घाटन हुआ है। इनकी एक शाखा अलीगंज में दो वर्ष पूर्व स्थापित हुई थी। इसके साथ-साथ में कई प्रतिष्ठित अस्पतालों के साथ भी जुड़े हुए हैं और पूरी सेवा भावना से कार्यरत है। यहां पर कान की सभी जांचों के साथ बच्चों के पुनर्वास की भी पूरी सुविधा उपलब्ध है।

माथुर रेडियोज में समय-समय पर निःशुल्क जांच के शिविर भी लगते रहते हैं। माधवेन्‍द्र ने कहा कि निरन्तर अपने क्षेत्र में बढ़ते हुए हमें यह बताते हुए गर्व हो रहा है कि सिगनिया ग्रुप के सहयोग से हमने दूसरे बेस्ट साउन्ड सेन्टर का उद्घाटन आज 17 जून को किया है। समारोह में अमनदीप सिंह रीन, नेशनल सेल्स मैनेजर और सैयद सोहेल, क्षेत्रीय प्रबंधक, सिवेन्टास इंडिया भी उपस्थित थे।