Monday , October 25 2021

नौकरी को खिलवाड़ समझने वाले 30 चिकित्‍सा शिक्षकों की सेवायें समाप्‍त

उत्‍तर प्रदेश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों के ये शिक्षक लम्‍बे समय से चल रहे हैं अनुपस्थित

 

लखनऊ।  उत्‍तर प्रदेश के विभिन्‍न सरकारी मेडिकल कॉलेजों में लम्‍बे समय से अनुपस्थित चल रहे 30 चिकित्‍सा शिक्षकों की सेवायें समाप्‍त करने की काररवाई शुरू हो गयी है। इन चिकित्‍सा शिक्षकों के खिलाफ काररवाई करने के लिए चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन के निर्देश दिये हैं।

 

प्रमुख सचिव चिकित्‍सा शिक्षा डॉ रजनीश दुबे ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इन सभी शिक्षकों को नोटिस जारी कर सेवायें समाप्‍त करने की कार्यवाही शुरू कर दी गयी है। उन्‍होंने बताया कि ये सभी चिकित्सा शिक्षक बिना अनुमति लिए अनाधिकृत रूप से लम्बे समय से अनुपस्थित चल रहे हैं जिसके कारण राजकीय मेडिकल कालेजों एवं चिकित्सालयों में समस्या आ रही थी।

 

श्री दुबे ने बताया कि जिन चिकित्सा शिक्षकों के विरुद्ध कार्यवाही की गयी है उनमें जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज कानपुर के 8, एसएन  मेडिकल कॉलेज, आगरा के 6, एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज, मेरठ के 3, राजकीय मेडिकल कॉलेज कन्नौज के 4, मेडिकल कॉलेज जालौन, गोरखपुर व आजमगढ़ के 1-1 चिकित्सा शिक्षक शामिल हैं। इसके अतिरिक्त हृदय रोग संस्थान, कानपुर के 3 चिकित्सा शिक्षक और जेके  कैन्सर इन्स्टीट्यूट, कानपुर के 3 चिकित्सा शिक्षकों के विरुद्ध कार्यवाही प्रारम्भ की गयी है।