गुर्दे की बीमारी को दूर रखेगी आपकी सजगता और एक छोटी सी जांच

हर 10 में से एक व्‍यक्ति को गुर्दे की तकलीफ, छोटी सी जांच करेगी मुश्किल आसान

लखनऊ। भारत में हर 10 में से 1 व्‍यक्ति को किसी न किसी प्रकार की गुर्दे की तकलीफ होती है, लेकिन शुरुआत में व्‍यक्ति लापरवाह रहता है और रोग बढ़ता जाता है, जब तकलीफ बढ़ती है तब वह डॉक्‍टर के पास पहुंचता है, तब तक गुर्दे में खराबी और बढ़ चुकी होती है, इसलिए यह सलाह है कि जिन लोगों को डायबिटीज, ब्‍लड प्रेशर, मोटापा, गुर्दे में बार-बार पथरी की शिकायत हो या 50 वर्ष की आयु हो गयी हो तो उन्‍हें अपने नजदीकी गुर्दा रोग विशेषज्ञ से मिलकर पेशाब में प्रोटीन और आरबीसी(रेड ब्‍लड सेल्‍स) की मात्रा की जांच करानी चाहिये।

 

यह सलाह इंडियन सोसाइटी ऑफ नेफ्रोलॉजी के सचिव व संजय गांधी पीजीआई के गुर्दा रोग विशेषज्ञ प्रो नारायण प्रसाद ने बुधवार को एक पत्रकार वार्ता में दी। उन्‍होंने कहा कि डायबिटीज, ब्‍लड प्रेशर, मोटापा, गुर्दे में बार-बार पथरी की शिकायत व़ाले लोग गुर्दे की बीमारी के प्रति हाई रिस्‍क की श्रेणी में आते हैं, ऐसे में जांच से समय रहते उपचार करना संभव हो जाता है और किडनी खराब होने से बच जाती है। उन्‍होंने बताया कि मार्च माह के दूसरे गुरुवार को विश्‍व गुर्दा दिवस मनाया जाता है। कल यानी 14 मार्च को विश्‍व गुर्दा दिवस पर लोगों में जागरूकता फैलाने के दृष्टिकोण से सुबह 10 बजे से 12 बजे तक संजय गांधी पीजीआई स्थित श्रुति ऑडीटोरियम में एक जागरूकता संगोष्‍ठी का आयोजन किया जा रहा है।

 

उन्‍होंने बताया कि इस वर्ष की विश्‍व किडनी दिवस की थीम है गुर्दे का स्‍वास्‍थ्‍य सब‍के लिए, सभी जगह उपलब्‍ध हो। उन्‍होंने कहा कि इस दिशा में अभी कार्य किये जाने की आवश्‍यकता है क्‍योंकि वर्तमान में हर जगह गुर्दा रोग विशेषज्ञ नहीं हैं।

 

प्रो नारायण ने सलाह देते हुए बताया कि लोगों को चाहिये कि अनावश्‍यक दर्द की गोलियां न खायें, ब्‍लड प्रेशर, ब्‍लड शुगर का लेवल नियंत्रित रखें। बिना विशेषज्ञ की सलाह के एंटीबायोटिक दवाओं को सेवन न करें। इसके अलावा धूम्रपान, तम्‍बाकू का सेवन न करें। उन्‍होंने बताया कि साफ पानी पीयें, नियमित व्‍यायाम करें, पौष्टिक आहार लें।

 

मुफ्त जांच की सुविधा

डॉ पीके गुप्‍ता

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की लखनऊ इकाई के पूर्व अध्‍यक्ष व पीके पैथोलॉजी के संस्‍थापक डॉ पीके गुप्‍ता ने बताया कि विश्व गुर्दा दिवस 14 मार्च के अवसर पर पी जी आई में गुर्दा रोग जागरूकता संगोष्ठी में भाग लेने वाले आम लोगो और तीमारदारों को 14 मार्च दिन गुरुवार को पीके पैथोलॉजी निकट पीजीआई द्वारा निशुल्क पेशाब में प्रोटीन और सीरम क्रिएटिनिन की जाँच की जाएगी। डॉ गुप्‍ता ने बताया कि इस सुविधा का लाभ लेने के लिए श्रुति हॉल से पर्ची प्राप्त करनी होगी यह पर्ची पूरे दिन के लिए मान्य होगी।