फार्मासिस्‍टों की मांगों पर मंत्री ने कहा, मांगों पर मैं स्‍वयं गंभीर, सरकार करेगी विचार

-डिप्‍लोमा फार्मासिस्‍ट एसोसिएशन के वेबिनार में जय प्रताप सिंह का आश्‍वासन

-विश्‍व फार्मासिस्‍ट दिवस पर प्रदेश भर में आयोजित हुए कार्यक्रम

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के चिकित्‍सा स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा है कि फार्मासिस्ट के पद नाम परिवर्तन, वेतनमान एवं पदों की संख्‍या बढ़ाए जाने की मांग पर राज्‍य सरकार गंभीरता पूर्वक विचार करेगी।

श्री सिंह ने यह आश्‍वासन आज विश्‍व फार्मासिस्‍ट दिवस के मौके पर डिप्‍लोमा फार्मासिस्‍ट एसोसिएशन द्वारा आयोजित एक वेबिनार में फार्मासिस्‍टों को ऑनलाइन सम्‍बोधित करते हुए कही। उन्‍होंने कहा कि फार्मासिस्‍ट की इन मांगों को लेकर वह स्‍वयं भी गंभीर हैं। उन्‍होंने विश्‍व फार्मासिस्‍ट दिवस पर सभी फार्मासिस्‍टों को बधाई दी।

स्वास्थ्य मंत्री ने जूम एप मीटिंग के माध्यम से प्रदेश के समस्त फार्मेसिस्टों को विश्व फार्मासिस्ट दिवस की बधाई देने के साथ ही प्रदेश के तमाम फार्मासिस्टों द्वारा इस महामारी के दौरान दी जा रही उत्कृष्ट सेवाओं की सराहना की तथा प्रदेश अध्यक्ष संदीप बडोला व महामंत्री श्रवण सचान द्वारा बताया गया कि फार्मेसी एक्ट 1948 के अन्तर्गत पंजीकृत डिप्लोमा,डिग्री,मास्टर डिग्री, डॉक्‍टरेट इन फार्मेसी व डी फार्मा धारी फार्मासिस्ट आते हैं जो चिकित्सालयों, प्राइवेट फार्मेसी, फार्मेसी शिक्षा संस्थानों, दवा निर्माण तथा शोध कार्य व औषधि नियंत्रक आदि फार्मो में अपनी सेवायें देते हैं। उन्‍होंने बताया कि फार्मेसी प्रोफेसर के अन्तर्राष्ट्रीय संगठन इण्टर नेशनल फार्मास्युटिकल फैडरेशन द्वारा प्रति वर्ष 25 सितम्बर को विश्व फार्मेसी दिवस के रुप में मनाया जाता है।

प्रांतीय कोषाध्यक्ष रजत यादव ने बताया कि वेबिनार में कोविड-19 से बचाव के लिए फार्मासिस्ट समाज को उचित उपाय व सुसज्जित करने की दृष्टि से निर्धारित बिंदुओं, विश्व फार्मासिस्ट दिवस की थीम बदलते वैश्विक स्‍वास्‍थ्‍य (Transforming Global Health) तथा प्रदेश की फार्मा नीति पर भी चर्चा हुई। उन्‍होंने बताया कि वेबिनार के निष्कर्षों तथा स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री के मांगों को पूरी करने के आश्‍वासन से मुख्यमंत्री को भी पत्र भेजकर अवगत कराया गया है। उन्‍होंने बतया कि बलरामपुर चिकित्सालय लखनऊ में डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन के नये प्रान्तीय कार्यालय का उदघाटन भी किया गया।

ज्ञात हो प्रदेश के सभी 75 जनपदों में सभी चिकित्सालयों में वर्ल्ड फार्मेसी डे मनाया गया। आधुनिक चिकित्‍सा के अतिरिक्‍त अन्य विधाओं के फार्मेसिस्ट द्वारा भी इस अवसर पर भागीदारी की गई। राजकीय फार्मासिस्ट महासंघ उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष सुनील यादव एवं महामंत्री अशोक कुमार ने बताया कि सभी विधाओं के फार्मासिस्‍टों की मांगें सरकार के समक्ष रखी जा चुकी हैं। उन्‍होंने कहा कि अतिशीघ्र मुख्यमंत्री से मांगों पर कार्रवाई किए जाने का अनुरोध किया जाएगा।

राजधानी लखनऊ में भी सभी चिकित्सालयों में अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। डॉ श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) चिकित्सालय में राजकीय फार्मासिस्ट महासंघ के अध्यक्ष सुनील यादव के नेतृत्व में फार्मेसिस्टों ने एकत्र होकर ट्रांसफॉर्मिंग ग्लोबल हेल्थ विषय पर चर्चा की। इसके अलावा लोक बंधु संयुक्‍त चिकित्सालय, बलरामपुर चिकित्सालय, लोहिया चिकित्सालय में भी वर्ल्‍ड फार्मेसी डे मनाया गया।