पैथी चाहे कोई भी हो, अगर सिम्‍पैथी नहीं तो सब बेकार

केरल समाज के कार्यक्रम में डॉ सूर्यकांत ने राज्‍य के चहुंमुखी योगदान को सराहा

 

लखनऊ। चिकित्‍सा सेवा का क्षेत्र हो या शिक्षा क्षेत्र अथवा कला का सभी जगह केरल ने अपनी छाप छोड़ी है, यहां की नर्सों की सेवा भावना का जवाब नहीं है, वे गंभीरता से अपने कार्य को करती हैं। मैं चिकित्‍सक हूं इलाज करता हूं एलोपैथी से, लेकिन सच यह है कि पैथी चाहे कोई भी हो लेकिन अगर सिम्‍पैथी न हुई तो सब बेकार है। साक्षरता दर भी केरल राज्‍य की देश में सबसे ज्‍यादा है। दुनिया के अनेक देशों में केरल के रहने वाले लोग मिलते हैं। इन सभी बातों के लिए केरल राज्‍य निश्चित ही बधाई का पात्र है।

यह उद्गार केजीएमयू के पल्‍मोनरी विभाग के हेड डॉ सूर्यकांत ने रविवार को यहां गोमती नगर स्थित सीएमएस ऑडीटोरियम में केरल समाजम द्वारा क्रिसमस-नववर्ष के उपलक्ष्‍य में आयोजित वार्षिक कार्यक्रम में बतौर मुख्‍य अतिथि व्‍यक्‍त किये। उन्‍होंने कहा कि उनका केरल के लोगों के साथ काम करने का पहला अवसर इंटर्नशिप की शुरुआत करते समय अस्‍पताल में हुआ। नर्सों की सेवा भावना को वहीं उन्‍होंने पहली बार देखा था। उन्‍होंने कहा कि बाद में जब भी विदेशों में गया हर जगह उन्‍होंने केरल के लोगों को जरूर देखा।

उन्‍होंने कहा कि 3 करोड़ 86 लाख की आबादी वाला केरल राज्‍य उन राज्‍यों में से एक है जो प्रकृति के करीब है। यहां की हरियाली, पहाड़ियां, झरने, प्राकृतिक सौंदर्य, नारियल के पेड़ स‍ब कुछ लाजवाब हैं। अपने अनुभव को साझा करते हुए उन्‍होंने कहा कि यहां के बैक वाटर में बोटिंग का आनंद ही कुछ और है। उन्‍होंने कहा कि भारतीय चिकित्‍सा पद्धति आयुर्वेद को इस राज्‍य ने संजोकर रखा है।

 

यहां की विभूतियों में आदि शंकराचार्य हैं जिन्‍होंने चारों दिशाओं पूर्व में जगन्‍नाथ पुरी, पश्चिम में द्वारिका पुरी, उत्‍तर में जोशीमठ तथा दक्षिण में कांचिपीठ की स्‍थापना की। इसके अलावा सभी क्षेत्रों में यहां के लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायी है, इनमें पूर्व राष्‍ट्रपति केआर नारायणन, खिलाड़ी अंजू बॉबी जॉर्ज, श्रीसंत, बॉलीवुड नायिका विद्या बालन, मेरे फेवरेट सिंगर येशूदास शामिल हैं।

 

उन्‍होंने कहा कि पिछले साल जब केरल में बाढ़ आयी थी तो उस समय इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने राहत कोष में एक करोड़ रुपये की मदद दी थी, उस समय मैं आईएमए लखनऊ का अध्‍यक्ष था और लखनऊ इकाई ने भी एक लाख रुपये भेजे थे। इस मौके पर उन्‍होंने तम्‍बाकू, टीबी, प्रदूषण के खिलाफ अभियान के संयोजक होने के नाते केरल समाज के लोगों से इन तीनों चीजों के खिलाफ अभियान में सहयोग का वादा लिया।

 

इस मौके पर सीएमएस ग्रुप के फाउंडर डायरेक्टर जगदीश गांधी गेस्ट ऑफ ऑनर रहे। इस मौके पर शानदार सांस्‍कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्‍तुत किया गया। साइकोथेरेपिस्‍ट डॉ नेहा आनंद ने तनाव प्रबंधन पर टिप्‍स दिये। सबसे ज्‍यादा अंक लाने पर छात्रा गौरी को सम्‍मानित किया गया। माथोमा चर्च के फादर रेव डेनी मैथ्‍यू जैकब ने सभी को क्रिसमस मैसेज दिया। इस मौके पर केरल समाजम के अध्‍यक्ष जेंसन जेम्‍स, आईआईएम के असिस्टेंट प्रोफेसर राकेश वी समेत अनेक लोग मौजूद रहे।